Apr 28, 2019

मोबाइल की स्क्रीन लाइट से आखो को कैसे बचाये


मोबाइल स्क्रीन से आखो को बचाने का तरीका । मोबाइल से आखो को कैसे secure करे 


आज का यह पोस्ट हर मोबाइल user के लिए बहुत ही बेहतरीन है अगर आप भी मोबाइल यूज करते हैं तो जरूर ही इस पोस्ट को पूरा पढ़ें क्योंकि इस पोस्ट के द्वारा मैं आपको बताने वाला हूं कि कैसे हम अपनी आंखों को मोबाइल से  सुरक्षित करके रख सकते हैं मोबाइल यूज करते समय ऐसा क्या क्या तरीके अपनाएं जिससे कि हमारे आंखों पर ज्यादा प्रभाव ना पड़े और हम सिक्योर क्यों तरीके से मोबाइल का इस्तेमाल कर पाए.
how to secure eye in mobile

पूरे दिन भर के 24 घंटे में औसतन हर इंसान आजकल 10 से 12 घंटा मोबाइल पर समय व्यतीत करता है अब सोचिए कि 10 से 12 घंटे मोबाइल की रोशनी हमारे आंखों पर पड़ती है तो इससे हमारे आंखों पर क्या असर होता होगा अगर इस बारे में आप नहीं सोच रहे हैं तो जरूर ही सोचें।

कई लोग मोबाइल पर सोशल मीडिया में लगे रहते हैं अपना मनोरंजन करने के लिए लगे रहते हैं मूवी देखना, गाना सुनना इस तरह से और तरीके से और ऑफिस वर्क वाले या जो भी मोबाइल से वर्क करते हैं वह मोबाइल के थ्रू अपना काम करते हैं वह भी मोबाइल पर औसतन 1 दिन में 10 से 12 घंटे बिताते हैं जिससे हमारे आंखों पर  बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ता है.

इस topic पर tips बताने से पहले यही बात share करूंगा  कि जितना हो सके हैं मोबाइल का कम इस्तेमाल करें लेकिन आज के भागमभाग भरी जिंदगी में यह संभव नहीं है अधिकतम लोग मोबाइल उठा लेते हैं और यूज़ करते हैं कितना भी मोबाइल से दूर रहने की कोशिश करें रह नहीं पाते हैं.

इन सभी कारणों की वजह से हमारे आंखों पर कई तरह से प्रभाव पड़ता है और कई लोग बहुत ही ज्यादा समय बिताते हैं तो उससे आंखों की बीमारियां भी होने का डर रहता है.


आइये जानते है इसके बारे में कुछ

अधिक मोबाइल के इस्तेमाल करने से डिप्रेशन का खतरा बढ़ जाता है क्योंकि मोबाइल की लाइट डायरेक्ट हमारे आंखों पर पड़ती है जो हमारे ब्रेन को इंपैक्ट करती है डिप्रेशन बढ़ते जाता है थकान भी बहुत ज्यादा महसूस होती है उसके बाद कोई काम करने का मन ही नहीं करता है। कई बार आखो में बहुत जलन, ज्यादा तनाव महसूस करने लगते हैं मेन पॉइंट यही है कि इससे डिप्रेशन बढ़ते जाता है.

नींद ना आना

ज्यादा मोबाइल इस्तेमाल करने से नींद नहीं आने की समस्या भी धीरे-धीरे बढ़ती जाती है अगर आप daily  रात को घंटो तक मोबाइल इस्तेमाल करते हैं अंधेरे में अगर मोबाइल इस्माल करते हैं तो उसकी रोशनी हमारी आंखों पर पड़ती है जो कि बहुत ही खतरनाक है ऐसे में नींद नहीं आने की समस्या बढ़ जाती है.

आंखों का कमजोर हो जाने का खतरा  बढ़ते जाता है यह बात तो आप भली-भांति जानते होंगे कि मोबाइल से निकलने वाले रेडिएशन बहुत खतरनाक होते हैं जो हमारी आंखों पर बुरा प्रभाव डालते हैं हमारी आंखें इस से कमजोर भी होती जाती है.

पढे -

यह तो थे मोबाइल की रोशनी से होने वाले सामान्य समस्याएं इसके अतिरिक्त और भी बहुत सारी समस्याएं हो जाती है जिसे कि डॉक्टर द्वारा स्पष्ट रूप से समझा जा सकता है अगर मोबाइल से होने वाली इन समस्याओं से बचना है तो सबसे पहली बातें यही है  मोबाइल का जितना कम से कम इस्तेमाल करना चाहिए ताकि हम ऐसी समस्याओं से बच सके  लेकिन अगर आपका मोबाइल इस्तेमाल  करने का मन है आप अपनी इस आदत से छुटकारा नहीं पा रहे हैं तो मोबाइल इस्तेमाल करते समय हमें ऐसे कुछ सावधानियों का इस्तेमाल करना होगा जिससे कि हम अपने आखो को सुरक्षित करके रख सकते हैं.


मोबाइल की रोशनी से आंखों को कैसे सुरक्षित रखें 

smartphone ki light se aakho ko kaise bachaye



मैंने आपको ऊपर मे ही  बताया था कि हमें मोबाइल का इस्तेमाल कम करना चाहिए लेकिन आप अपनी इस आदत से छुटकारा नहीं पा पा रहे हैं तो ऐसे कुछ टिप्स बताऊंगा जिससे आंखों को सुरक्षित करने के लिए जरूर फॉलो करें.

◼️Night mode का use करे◼️

Night mode का इस्तेमाल करें मोबाइल में अगर आप नहीं जानते night mode क्या है तो मैं आपको बता दूं कि नाइट मॉड मोबाइल का एक ऐसा feature  है जिस पर मोबाइल स्क्रीन की लाइट ब्लैक हो जाती है जितने भी white word रहते हैं वह ब्लैक हो जाते हैं अगर आपने कोई भी ब्राउज़र इस्तेमाल किया होगा तो उसमें यह  सुविधा होगा इससे मोबाइल की ब्राइटनेस बहुत ज्यादा कम हो जाती है।

हमारी आंखों पर इसका प्रभाव  बहुत कम पड़ता है आजकल बहुत सारे एप्स ब्राउज़र night mode की फैसिलिटी देते हैं अगर आप रात के समय ब्राउजिंग कर रहे हैं तो नाइट मॉड यूज करके ही ब्राउजिंग करें यह मोबाइल की ब्राइटनेस को पूरी तरह से कम कर देता है और पूरे स्क्रीन ब्लैक इन व्हाइट जैसी हो जाती है यानि की जितना भी लाइट रहता है वह कम हो जाता है इससे आंखों पर रोशनी बहुत ही कम पड़ता है कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म मे इस तरह से night mode function अवेलेबल है ।

जैसे अगर आप यूट्यूब का इस्तेमाल करते हैं  तो देखा होगा इसका मेन डैशबोर्ड वाइट कलर का होता है लेकिन अगर इसमें आपका night mode use करेंगे यह ब्लैक कलर का हो जाएगा  जिससे की आंखों पर कम प्रभाव पड़ेगा ।


◼️मोबाइल के अक्षरों को बोल्ड करें◼️

आंखों की समस्या मोबाइल को बहुत ही ज्यादा पास में रखकर यूज करने से होता है और हम पास इसलिए रखते हैं क्योंकि मोबाइल के जो word है हमें छोटे-छोटे दिखाई देते हैं अगर आप मोबाइल के वर्ड को बोल्ड कर देंगे तो इसे दूर रख कर ही यूज कर सकते हैं

इसलिए जब भी मोबाइल के use करें इसके वर्ड को बोल्ड अक्षर में कर ले  जिससे इसमें आपको अपनी आंखें जमाँकर देखने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

यह तरीका तो सिंपल है लेकिन यह यूज़फुल है मोबाइल की लाइट से आंखों को सिक्योर करने के लिए इस tips को यूज करने के लिए आप मोबाइल के सेटिंग में जाकर इस पर डिस्प्ले होने वाले सभी वर्ड को बोल्ड कर सकते हैं
यहां पर small, medium, bold इस तरह option मिलेगा इसमें से आप अपने चॉइस के हिसाब से शब्दों को bold अक्षर में कर सकते हैं जिससे mobile को आंखों के पास रखने की जरूरत नहीं है दूर से भी वह आपको पहचान में आ जाएगा और उसे यूज कर सकते हैं।

◼️Reading mode use करे◼️

Reading mode यूज़ करें यह भी एक बेहतरीन feature है अगर आप reading mode के बारे में नहीं जानते हैं तो इसके बारे में जाने अगर आप रात के समय मोबाइल इस्तेमाल करते हैं तो रीडिंग mode में इसके लाइट को मेंटेनेंस करने का ऑप्शन रहता है जिस पर स्क्रीन की लाइट कई colour में चेंज होते रहता है जैसे आप धूप में इस्तेमाल करेंगे तब अलग होगा रात में इस्तेमाल करेंगे तब अलग होगा रात को पढ़ते समय उसकी लाइफ कैसी होनी चाहिए यह सब ऑटो मोड में डालकर इसमें चेंज कर सकते हैं।  
यह option नए रिलीज होने वाले सभी लेटेस्ट smartphone मे दिया जा रहा है reading mode feature यूज करने के लिए आप अपने मोबाइल की सेटिंग में जाकर डिस्प्ले में चेक करें कि उसने रीडिंग मोड दिया है कि नहीं।

रात को कुछ भी पढ़ते वक्त या इंटरनेट इस्तेमाल करते वक्त अपने मोबाइल को रीडिंग मोड में डाल दें जिससे कि इससे निकलने वाले लाइट की  ब्राइटनेस कम हो जाएगा मोबाइल की स्क्रीन लाइट कम या दबा सा हो  जाएगा जो कि सफेद लाइट  रहता है वह पूरी तरह से कम हो जाएगा इससे आंखों पर प्रभाव कम पड़ेगा यह एक बेहतर विकल्प हो सकता है अपने आप को सुरक्षित रखने के लिए।


◼️Brightness कम रखे◼️

कई लोगों को यह आदत रहती है full brightness के साथ मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं लेकिन इससे होने वाले दुष्प्रभाव के बारे में सोचते नहीं है  इससे हमारे आंखों पर क्या प्रभाव पड़ रहा होगा अगर आप भी फुल ब्राइटनेस मे मोबाइल इस्तेमाल करते हैं तो यह आदत छोड़ दे हमें कभी भी full brightness के साथ इस्तेमाल नहीं करना चाहिए जब कभी भी जरूरत पड़ती है तो दोपहर के समय  1-2 मिनट के लिए कर सकते हैं।

लेकिन हमेशा फुल ब्राइटनेस में इस्तेमाल नहीं करना चाहिए खासकर रात के समय इस्तेमाल कर रहे हैं तो इसके ब्राइटनेस को पूरी तरह से लो कर दें या ब्राइटनेस को auto मॉड में सेट कर दे।  

इसे जब कभी भी जरूरत पड़ेगा उस हिसाब से आपके मोबाइल का ब्राइटनेस आटोमेटिक सेट हो जाएगा।  वैसे ब्राइटनेस को आप हमेशा कम ही रखें इससे आंखों पर प्रभाव कम पड़ेगा  और आपके मोबाइल में बैटरी की भी बचत होगी full ब्राइटनेस इस्तेमाल करने से कभी कभी आंखों में जलन भी महसूस होता है लेकिन हम इसे गौर नहीं करते हैं इसलिए जब भी मोबाइल इस्तेमाल करें कम brightness के साथ ही यूज करें ।

◼️अंधेरे में तो बिल्कुल ही इस्तेमाल ना करें◼️

यह पॉइंट तो बहुत ही इंपॉर्टेंट है और इसी पॉइंट को खासकर लोग ज्यादा इस्तेमाल करते हैं कहने का मतलब यही है कि लोग अंधेरे में बहुत ज्यादा मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं अगर आप भी अंधेरे में मोबाइल का प्रयोग करते हैं तो यह ही बिल्कुल ही छोड़ दे क्योंकि जितना प्रभाव दिन में आखो  पर पड़ता है उससे ज्यादा प्रभाव अगर हम अंधेरे में मोबाइल इस्तेमाल करते हैं तब हमारी आंखों पर पड़ता है।

मोबाइल की पूरी रोशनी हमारी आंखों पर केंद्रित हो जाती है और अंधेरे में हमारे आंखों का  पूरा जोर मोबाइल पर ही रहता है जिससे आंखें कमजोर हो जाती है जलन महसूस होता है और blindness होने का डर रहता है इसलिए मोबाइल इस्तेमाल कर रहे हैं तो अंधेरे में बिल्कुल ही ना करें
1-2 मिनट के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं इससे कुछ नहीं होगा लेकिन अगर आप घंटों  इस्तेमाल कर रहे हैं तो भविष्य में इससे आंखों को कुछ ना कुछ समस्या जरूर हो सकती है।

इसलिए रात के समय मोबाइल इस्तेमाल करते हैं तो कमरे की लाइट जरूर जलाये ।

मोबाइल से आंखों को कैसे सुरक्षित रखें


जरूरत के साथ मोबाइल इस्तेमाल करना बहुत ही अच्छी बात है लेकिन जरूरत से ज्यादा किसी  चीज का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए अगर आपको किसी भी चीज की  वाकई जरूरत है तो  कुछ सावधानियों को अपनाते हुए ही उसका इस्तेमाल करना चाहिए।
अगर हम  मोबाइल का इस्तेमाल कर रहे हैं और इस आदत से छुटकारा नहीं पा पा रहे हैं तो ऊपर में दिए गए कुछ सावधानियों को अपनाते हुए smartphone का इस्तेमाल कर सकते हैं इन सावधानियों को अपनाने से कुछ हद तक हमारी आंखों को तो राहत मिलेगी और हम अच्छे से मोबाइल को भी इस्तेमाल कर पाएंगे।

यह भी पढे -


मोबाइल की रोशनी से अपनी आंखों को सुरक्षित करने के लिए अगर इन तरीकों को हम अपनाते हैं तो जरूर कुछ हद तक हम अपनी आंखों को सुरक्षित करके रख सकते हैं मोबाइल इस्तेमाल करते समय जरूर ही इन बातों का ध्यान रखें और इन तरीकों को अपनाते हुए ही मोबाइल का उपयोग करें।

मुझे उम्मीद है मेरे द्वारा दिया गया यह जानकारी आपको अच्छा लगा होगा अगर आपको इसी तरह से किसी और विषय पर भी जानकारी चाहिए तो आप अपने सवाल हमें कमेंट के माध्यम से जरूर शेयर करें और अगर यह पोस्ट आपको अच्छा लगा होगा तो इसे सोशल मीडिया में भी अपने दोस्तों को जरूर बताएं
कहते है ज्ञान बांटने से ही बढ़ता है अपने विचार और सुझाव हमें कमेंट के माध्यम से जरूर शेयर करें।


No comments:

Post a Comment